Manoj Kumar | मेरे देश की धरती Mere Desh Ki Dharti Lyrics

mere desh ki dharti lyrics
Image Credits: Saregama Music
Love To Share

मेरे देश की धरती Mere Desh Ki Dharti Lyrics From Manoj Kumar’s Classic Movie named Pukar. Sung by Mahendra Kapoor.

Song Title/गाना : मेरे देश की धरती सोना उगले desh ki dharti sona ugale ugale hira moti
Singer/गायक: Mahendra Kapoor
Movie: Upkar (1967)
Music Director/संगीतकार: Kalyanji-Anandji
Lyrics: Indeevar
Star Casts: Manoj Kumar, Prem Chopra, Asha Parekh
Music Label : Saregama India Ltd

देश की धरती लिरिक्स mere desh ki dharti lyrics in hindi

आ..आ..आ..
हो..ओ…हो..ओ..
(मेरे देश की धरती…
मेरे देश की धरती… सोना उगले
उगले हीरे मोती
मेरे देश की धरती, मेरे देश की धरती)-2

आ..आ..आ..
हो..ओ…हो..ओ..

बैलों के गले में जब घुंघरू, जीवन का राग सुनाते हैं
जीवन का राग सुनाते हैं
ग़म कोसों दूर हो जाता है, खुशियों के कंवल मुस्काते हैं
खुशियों के कंवल मुस्काते हैं

हो..ओ…ओ..ओ..हो..ओ..
सुनके रहट की आवाज़ें, सुनके रहट की आवाज़ें
यूँ लगे कहीं शहनाई बजे
यूँ लगे कहीं शहनाई बजे
आते ही मस्त बहारों के, दुल्हन की तरह हर खेत सजे
दुल्हन की तरह हर खेत सजे

मेरे देश की धरती..ई…
मेरे देश की धरती… सोनाह उगले
उगले हीरे मोती
मेरे देश की धरती
मेरे देश की धरती

जब चलते हैं इस धरती पे हल, ममता अंगड़ाइयाँ लेती है
ममता अंगड़ाइयाँ लेती है
क्यूँ ना पूजे इस माटी को, जो जीवन का सुख देती है
जो जीवन का सुख देती है

हो..ओ…ओ..ओ..हो..ओ..
इस धरती पे जिसने जनम लिया
इस धरती पे जिसने जनम लिया, उसने ही पाया प्यार तेरा
यहाँ अपना पराया कोई नहीं..
यहाँ अपना पराया कोई नहीं, है सब पे है माँ उपकार तेरा
है सब पे है माँ उपकार तेरा

मेरे देश की धरती..ई…
मेरे देश की धरती… सोनाह उगले
उगले हीरे मोती
मेरे देश की धरती
मेरे देश की धरती

ये बाग़ है, गौतम नानक का
खिलते हैं अमन के फूल यहाँ
खिलते हैं अमन के फूल यहाँ

गांधी, सुभाष..
गांधी, सुभाष, टैगोर, तिलक
ऐसे हैं चमन के फूल यहाँ
ऐसे हैं चमन के फूल यहाँ

रंग हरा हरी सिंह नलवे से..रंग लाल है लाल बहादुर से..
रंग बना बसंती भगत सिंह,रंग बना बसंती भगत सिंह
lyricsgungunayein.com
रंग अमन का वीर जवाहर से,रंग अमन का वीर जवाहर से,

मेरे देश की धरती..ई…
(मेरे देश की धरती… सोनाह उगले
उगले हीरे मोती
मेरे देश की धरती
मेरे देश की धरती)-2

Mere Desh Ki Dharti Song Lyrics in English

Advertisement

Aa..aa..aa..
Ho..o..Ho..o..
(Mere desh ki dharti..
Mere desh ki dharti.. sona ugle
Ugle heere moti
Mere desh ki dharti, mere desh ki dharti)-2

Aa..aa..aa..
Ho..o..Ho..o..
Bailon ke gale mein jab ghungru
Jivan ka raag sunate hain
Jivan ka raag sunate hain
Gam koson dur ho jata hai
Khushiyon ke kanwal muskate hain
Khushiyon ke kanwal muskate hain

Ho..o..Ho..o..
(Sunke rehat ki awazein)-2
Yun lage kahin shehnai baje
Yun lage kahin shehnaai baje
Aate hi mast baharon ke
Dulhan ki tarah har khet saje
Dulhan ki tarah har khet saje

Mere desh ki dharti..yi..
Mere desh ki dharti.. sonah ugle
Ugle heere moti, mere desh ki dharti
Mere desh ki dharti

Jab chalte hain is dharti pe hal
Mamta angdayiyan leti hai
Mamta angdayiyan leti hai
Kyun na puje is maati ko
Jo jeevan ka sukh deti hai
Jo jeevan ka sukh deti hai

Ho..o..Ho..o..
(Is dharti pe jisne janam liya)-2
Usne hi paya pyar tera
Usne hi paya pyar tera
Yahan apna paraya koyi nahin
Yahan apna paraya koyi nahin
Hai sab pe hai Maa upkar tera
Hai sab pe hai Maa upkar tera

Mere desh ki dharti..yi..
Mere desh ki dharti.. sonah ugle
Ugle heere moti, mere desh ki dharti
Mere desh ki dharti
Yeh baag hai, Gautam Nanak ka
Khilte hain aman ke phool yahan
Khilte hain aman ke phool yahan

Gandhi,Subhash
Gandhi, Subhash, Tagore, Tilak
Aise hain chaman ke phool yahan
Aise hain chaman ke phool yahan
Rang hara hari singh Nalve se, rang laal hai Lal Bahadur se..
Rang bana basanti Bhagat Singh, rang bana basanti Bhagat Singh
lyricsgungunayein.com
Rang aman ka veer Jawahar se, rang aman ka veer Jawahar se

Mere desh ki dharti..yi..
(Mere desh ki dharti.. sonah ugle
Ugle heere moti, mere desh ki dharti
Mere desh ki dharti)-2


Love To Share