Ae watan Ae watan Humko Teri Kasam Lyrics Hindi – Shaheed

Ae watan Ae watan Humko Teri Kasam Lyrics
Love To Share

Old Classic Patriotic Song ऐ वतन ऐ वतन हमको तेरी कसम लिरिक्स Ae watan Ae watan Humko Teri Kasam Lyrics from Shaheed movie. Sung by Mohammed Rafi. Prem Dhawan has penned the lyrics and composed the music. Song is picturised on Manoj Kumar.

Song Credits:
Song Title/गाना: ऐ वतन ऐ वतन हमको तेरी कसम aye watan aye watan humko teri kasam
Movie/चित्रपट: शहीद Shaheed(Year-1965)
Singer/गायक: मुहम्मद रफ़ी Mohammed Rafi
Music Director/संगीतकार: प्रेम धवन Prem Dhawan
Lyrics Writer/गीतकार: प्रेम धवन Prem Dhawan
Star casts/अभिनीत किरदार: Manoj Kumar, Madan Puri, Prem Chopra, Kamini Kaushal, Neerupa Roy, Manmohan, Indrani Mukherjee, D K Sapru, Pran, Anand Kumar, Anwar Hussain, Iftekhar, Kishan Dhawan

Ae Watan Ae Watan Humko Teri Kasam Lyrics in Hindi

जलते भी गए, कहते भी गए, आज़ादी के परवाने
जीना तो उसी का जीना है, जो मरना वतन पे जाने

ऐ वतन, ऐ वतन, हमको तेरी क़सम
तेरी राहों में जाँ तक लुटा जायेंगे
फूल क्या चीज़ है तेरे क़दमों पे हम
भेंट अपने सरों की चढ़ा जायेंगे
ऐ वतन, ऐ वतन, हमको तेरी क़सम
तेरी राहों में जाँ तक लुटा जायेंगे
ऐ वतन, ऐ वतन

सह चुके हैं सितम हम बहोत गैर के
अब करेंगे हर एक वार का सामना
सह चुके हैं सितम हम बहोत गैर के
अब करेंगे हर एक वार का सामना
झुक सकेगा ना अब सरफरोशों का सर
चाहे हो खूनी तलवार का सामना
चाहे हो खूनी तलवार का सामना
सर पे बांधे कफ़न, हम तो हँसते हुए
मौत को भी गले से लगा जायेंगे
ऐ वतन ऐ वतन

कोई पंजाब से, कोई महाराष्ट्र से
कोई यूपी से है, कोई बंगाल से
कोई पंजाब से, कोई महाराष्ट्र से
कोई यूपी से है, कोई बंगाल से
तेरी पूजा की थाली में लायें हैं हम
तेरी पूजा की थाली में लायें हैं हम
फूल हर रंग के, आज हर डाल से
फूल हर रंग के, आज हर डाल से

Advertisement

नाम कुछ भी सही, पर लगन एक है
जोत से जोत दिल की जगा जायेंगे
ऐ वतन, ऐ वतन, हमको तेरी क़सम
तेरी राहों में जाँ तक लुटा जायेंगे
ऐ वतन, ऐ वतन

तेरी जानिब उठी जो कहर की नज़र
उस नज़र को झुका के ही दम लेंगे हम
तेरी जानिब उठी जो कहर की नज़र
उस नज़र को झुका के ही दम लेंगे हम
तेरी धरती पे है जो, क़दम गैर का
उस क़दम का निशां तक मिटा देंगे हम
उस क़दम का निशां तक मिटा देंगे हम

जो भी दीवार आएगी अब सामने
ठोकरों से उसे हम गिरा जायेंगे
ऐ वतन, ऐ वतन, हमको तेरी क़सम
तेरी राहों में जाँ तक लुटा जायेंगे
ऐ वतन, ऐ वतन

जब शहीदों की अर्थी उठे धूम से..
देशवालो तुम आंसू बहाना नहीं
पर मनाओ जब आज़ाद भारत का दिन
उस घड़ी तुम हमें भूल जाना नहीं
लौट कर आ सकें ना जहाँ में तो क्या
याद बनके दिलों में तो आ जायेंगे
ऐ वतन, ऐ वतन, हमको तेरी क़सम
तेरी राहों में जाँ तक लुटा जायेंगे
ऐ वतन, ऐ वतन

ऐ वतन, ऐ वतन, हमको तेरी क़सम
तेरी राहों में जाँ तक लुटा जायेंगे
फूल क्या चीज़ है तेरे क़दमों पे हम
भेंट अपने सरों की चढ़ा जायेंगे

ऐ वतन, ऐ वतन, हमको तेरी क़सम
तेरी राहों में जाँ तक लुटा जायेंगे
इन्कलाब जिंदाबाद, इन्कलाब जिंदाबाद
इन्कलाब जिंदाबाद, इन्कलाब जिंदाबाद
इन्कलाब जिंदाबाद, इन्कलाब जिंदाबाद
इन्कलाब जिंदाबाद, इन्कलाब जिंदाबाद
इन्कलाब जिंदाबाद, इन्कलाब जिंदाबाद

Ae Watan Ae Watan Humko Teri Kasam Lyrics in English

Advertisement

Jalte bhi gaye, kahte bhi gaye
Aazadi ke parwaane
Jeena toh usi ka jeena hai
Jo marna watan pe jaane

Aye watan, aye watan, humko teri kasam
Teri raahon mein jaan tak loota jaayenge
Phool kya cheez hai tere kadmon pe hum
Bhent apne saron ki chadhaa jaayenge
Aye watan, aye watan, humko teri kasam
Teri raahon mein jaan tak loota jaayenge
Aye watan, aye watan

Sah chuke hain sitam hum bahot gair ke
Ab karenge har ek vaar ka saamnaa
Sah chuke hain sitam hum bahot gair ke
Ab karenge har ek vaar ka saamnaa
Jhuk sakega naa ab sarfaroshon ka sar
Chaahe ho khooni talwar ka saamnaa
Chaahe ho khooni talwar ka saamnaa
Sar pe baandhe kafan hum to hanste huye
Maut ko bhi gale se lagaa jaayenge
Aye watan, aye watan

Koi punjab se, koi Maharashtra se
Koi up se hai, koi Bangal se
Koi punjab se, koi Maharashtra se
Koi up se hai, koi Bangal se
Teri pooja ki thaali mein laayen hain hum
Teri pooja ki thaali mein laayen hain hum
Phool har rang ke, aaj har daal se
Phool har rang ke, aaj har daal se

Naam kuchh bhi sahi, par lagan ek hai
Jyot se jyot dil ki jagaa jaayenge
Aye watan, aye watan humko teri kasam
Teri raahon mein jaan tak lutaa jaayenge
Aye watan, aye watan

Teri jaanib uthhi jo kahar ki nazar
Us nazar ko jhuka ke hi dam lenge hum
Teri jaanib uthhi jo kahar ki nazar
Us nazar ko jhuka ke hi dam lenge hum
Teri dharti pe hai jo, kadam gair ka
Us kadam ka nishaan tak mita denge hum
Us kadam ka nishaan tak mita denge hum

Jo bhi deewar aayegi ab saamane
Thhokaron se use hum gira jaayenge
Aye watan, aye watan humko teri kasam
Teri raahon mein jaan tak lutaa jaayenge
Aye watan, aye watan

Jab shaheedon ki arthi uthe dhoom se..
Deshwalon tum aansoo bahana nahin
Par manaao jab aazad bharat kaa din
Us ghadi tum humein bhool jana nahin
Laut kar aa saken na jahaan mein to kya
Yaad banke dilon mein toh aa jaayenge
Aye watan, aye watan, humko teri kasam
Teri raahon mein jaan tak lutaa jaayenge
Aye watan, aye watan

Aye watan, aye watan, humko teri kasam
Teri raahon mein jaan tak lutaa jaayenge
Phool kyaa cheez hai tere kadmon pe hum
Bhent apne saron ki chadhaa jaayenge
Aye watan aye watan humko teri kasam
Teri raahon mein jaan tak lutaa jaayenge
Inqalaab zindabaad, Inqalaab zindabaad
Inqalaab zindabaad, Inqalaab zindabaad
Inqalaab zindabaad, Inqalaab zindabaad
Inqalaab zindabaad, Inqalaab zindabaad
Inqalaab zindabaad, Inqalaab zindabaad


Love To Share