कभी नहीं Kabhi Nahin Lyrics – Adnan Sami, Amitabh Bachchan

Love To Share

मौला कभी मुझे छोड़ना कभी नहीं Kabhi Nahin Lyrics from Tera Chehra Album. Sung by Adnam Sami and Amitabh Bachchan. Sameer has penned the lyrics and Adnan Sami composed the music.

Song Credits:
Song Title/गाना: कभी नहीं kabhi nahee
Album: Tera Chehra(Year-2002)
Singer/गायक: Adnan Sami, Amitabh Bachchan
Music Director/संगीतकार: Adnan Sami
Lyrics Writer/गीतकार: Sameer
Star casts/अभिनीत किरदार: Adnan Sami, Amitabh Bachchan
Music Label: T-Series

Kabhi Nahi Song Lyrics in Hindi

मौला कभी मुझे छोड़ना, कभी नहीं
भूला तेरा एहसान मैं, कभी नहीं
दिया तूने जो मना किया, कभी नहीं
कभी किसी को फसाया है, कभी नहीं
कभी रिश्वत खाई है, कभी नहीं
कभी झूठ मैं बोला है, कभी नहीं
तेरे घर में अंधेर है कभी नहीं

मौला कभी मुझे छोड़ना, कभी नहीं
भूला तेरा एहसान मैं, कभी नहीं
दिया तूने जो मना किया, कभी नहीं
कभी किसी को फसाया है, कभी नहीं
कभी रिश्वत खाई है, कभी नहीं
कभी झूठ मैं बोला है, कभी नहीं
तेरे घर में अंधेर है कभी नहीं

मौला कभी मुझे छोड़ना, कभी नहीं
भूला तेरा एहसान मैं, कभी नहीं
[कभी नहीं,कभी नहीं, अरे छोड़ ना यार]

माल है पर दाम नहीं है
डिग्री है पर काम नहीं है
हम करें कोई ऐसी पढ़ाई
जिससे घर में आए कमाई

डिग्री है बस नाम की मौला
अपने ये किस काम की मौला
जो मुझे है नौकरी पानी
होगी ऊंची पहुँच लगानी

कभी डैडी से छुपाया है, कभी नहीं
कभी चीटिंग की तूने, कभी नहीं
कभी मस्का लगाया है, कभी नहीं
कभी गुरु को सताया है, कभी नहीं
कभी टीचर ने मारा है, कभी नहीं
कभी झूठ मैंने बोला है, कभी नहीं
तेरे घर में अंधेर है, कभी नहीं

मौला कभी मुझे छोड़ना, कभी नहीं
भूला तेरा एहसान मैं, कभी नहीं
[कभी नहीं कभी नहीं]

पूछो ना पूछो ना कैसा, आ हाँ
शादी का लड्डू है ऐसा, वाह
जो ना खाये वो ललचाये (क्या बात है)
खाने वाला भी पछताए
आशिकी रोमांस की बातें
ये तो हैं सब चांस की बातें
ना लगाना खुद पे पेहरा
बांध लेना सर पे सेहरा

कभी बीवी को घुमाया है, कभी नहीं [हाँ]
कभी बीवी से छुपाया है, कभी नहीं [हाँ]
कभी बीवी को रुलाया है [अरे]
कभी बीवी ने निकाला है [अमा क्या बोल रहा है यार]
कभी बीवी ने पीटा है [अमा क्या कर रहे हो यार]
कभी झूठ मैंने बोला है, कभी नहीं
तेरे घर में अंधेर है, कभी नहीं

मौला कभी मुझे छोड़ना, कभी नहीं
भूला तेरा एहसान मैं, कभी नहीं
दिया तूने जो मना किया, कभी नहीं
कभी किसी को फसाया है, कभी नहीं
कभी रिश्वत खाई है, कभी नहीं
कभी झूठ मैं बोला है, कभी नहीं
तेरे घर में अंधेर है, कभी नहीं

Kabhi Nahi Lyrics in English

Maula kabhi mujhe chhodna, kabhi nahi
Bhula tera ehsaan main, kabhi nahi
Diya tune jo manaa kiya, kabhi nahi
Kabhi kisi ko fasaya hai, kabhi nahi
Kabhi rishwat khaai hai, kabhi nahi
Kabhi jhut maine bolaa hai, kabhi nahi
Tere ghar mein adher hai, kabhi nahi

Maula kabhi mujhe chhodna, kabhi nahi
Bhula tera ehsaan main, kabhi nahi
Diya tune jo manaa kiya, kabhi nahi
Kabhi kisi ko fasaya hai, kabhi nahi
Kabhi rishwat khaai hai, kabhi nahi
Kabhi jhut maine bolaa hai, kabhi nahi
Tere ghar mein adher hai, kabhi nahi

Maula kabhi mujhe chhodna, kabhi nahi
Bhula tera ehsaan main, kabhi nahi
[Kabhi nahi, kabhi nahi, are chhod na yaar]

Maal hai par daam nahi hai
Degree hai par kaam nahi hai
Hum karen koi aisi padhaai
Jisse ghar mein aai kamaai

Degree hai bas naam ki maula
Apne ye kis kaam ki maula
Jo mujhe hai naukari paani
Hogi unchi pahuch lagaani

Kabhi daidi se chhupaya hai, kabhi nahi
Kabhi cheating ki tune, kabhi nahi
Kabhi maska lagaya hai, kabhi nahi
Kabhi guru ko sataya hai, kabhi nahi
Kabhi teacher ne mara hai, kabhi nahi
Kabhi jhut maine bolaa hai, kabhi nahi
Tere ghar mein adher hai, kabhi nahi

Maula kabhi mujhe chhodna, kabhi nahi
Bhula tera ehsaan main, kabhi nahi
[Kabhi nahi, kabhi nahi]

Puchho na puchho na kaisa, aa haan
Shaadi ka laddu hai aisa, waah
Jo na khaye woh lalchaye (kya baat hai)
Khaane wala bhi pachhtaaye
Aashiqi romance ki baaten
Ye toh hain sab chance Ki baaten
Na lagana khud pe pehra
Baadh lena sar pe sehra

Kabhi biwi ko ghumaya hai, kabhi nahi[haan]
Kabhi biwi se chhupaya hai, kabhi nahi[haan]
Kabhi biwi ko rulaya hai [Arey]
Kabhi biwi nNe nikala hai[amaa kya bol raha hai yaar]
Kabhi biwi ne pitaa hai[amaa Kya kar rahe ho yaar]
Kabhi jhut maine bola hai, kabhi nahi

Maula kabhi mujhe chhodna, kabhi nahi
Bhula tera ehsaan main, kabhi nahi
Diya tune jo manaa kiya, kabhi nahi
Kabhi kisi ko fasaya hai, kabhi nahi
Kabhi rishwat khaai hai, kabhi nahi
Kabhi jhut maine bolaa hai, kabhi nahi
Tere ghar mein adher hai, kabhi nahi


Love To Share