Panchi Sur Mein Gatein Hein Lyrics in Hindi – Sirf Tum | Udit Narayan

Panchi Sur Mein Gatein Hein Lyrics
Love To Share

Nature Beauty Describing song Panchi Sur Mein Gaate Hain Lyrics from Sirf Tum movie. Sung By Udit narayan. Nadeem-Shravan has composed the music and Sameer has penned the lyrics. Song is picturised on Sanjay Kapoor and Johnny Lever.

Song Title: पंछी सुर में गातें हैं
Movie: सिर्फ तुम Sirf Tum(Year-1999)
Music: नदीम-श्रवण Nadeem-Shravan
Lyricist: समीर Sameer
Singer: उदित नारायण Udit Narayan
Star Casts: Sanjay Kapoor, Priya Gill, Sushmita Sen

Panchi Sur Mein Gaate Hain Lyrics in Hindi

पंछी सुर में गातें हैं
भँवरे गुनगुनाते हैं
घुँघरू बजाती है हवा
ऐसे मुस्कुराती है
यूं फ़िज़ा बुलाती है
जैसे हो ये मेरी दिलरुबा

पंछी सुर में गातें हैं
भँवरे गुनगुनाते हैं
घुँघरू बजाती है हवा
ऐसे मुस्कुराती है
यूं फ़िज़ा बुलाती है
जैसे हो ये मेरी दिलरुबा

देखो, क्या घनेरे ऊँचे-ऊँचे
परबतों के साए हैं
चलके, यूं मचल के, रंग बदल के
हमसे मिलने आयें हैं

हो, देखो, क्या घनेरे ऊँचे-ऊँचे
परबतों के साए हैं
चलके, यूं मचल के, रंग बदल के
हमसे मिलने आयें हैं

खूसबू है बहारों की
मस्ती है नज़ारों की
सबके दिल पे छाया है नशा..
आ..

अरे ऐसे मुस्कुराती है
यूं फ़िज़ा बुलाती है
जैसे हो ये मेरी दिलरुबा

पंछी सुर में गाते हैं
भँवरे गुनगुनाते हैं
घुँघरू बजाती है हवा
ऐसे मुस्कुराती है
यूं फ़िज़ा बुलाती है
जैसे हो ये मेरी दिलरुबा

नैया बिन खिवैया जाने कैसे
साहिलों पे आती है
धारा इस नदी की
हर किसी को इक दिन तो मिलती है

हो..ओ.. नैया बिन खिवैया जाने कैसे
साहिलों पे आती है
धारा इस नदी की
हर किसी को इक दिन तो मिलती है

सच्ची ये कहानी है
पानी ज़िंदगानी है
सारे जग को है ये पता
आ..

हो, ऐसे मुस्कुराती है
ऐसे मुस्कुराती है
यूं फ़िज़ा बुलाती है
जैसे हो ये मेरी दिलरुबा

पंछी सुर में गाते हैं
भँवरे गुनगुनाते हैं
घुँघरू बजाती है हवा
ऐसे मुस्कुराती है
यूं फ़िज़ा बुलाती है
(जैसे हो ये मेरी दिलरुबा)-3

Panchi Sur Mein Gaate Hain Lyrics in English

Advertisement

Panchhi sur mein gaaten hain
Bhanwre gungunaten hain
Ghunghroo bajaati hai hawaa
Aise muskuraati hai
Yun fiza bulaati hai
Jaise ho ye meri dilruba

Panchhi sur mein gaaten hain
Bhanwre gungunaten hain
Ghunghroo bajaati hai hawaa
Aise muskuraati hai
Yun fiza bulaati hai
Jaise ho ye meri dilruba

Dekho kya ghanere unche-unche
Parbaton ke saaye hain
Chalke, yun machal ke, rang badal ke
Humse milne aayen hain

Ho, dekho kya ghanere unche-unche
Parbaton ke saaye hain
Chalke, yun machal ke, rang badal ke
Humse milne aayen hain

Khuhboo hai bahaaron ki
Masti hai nazaaron ki
Sabke dil pe chhaya hai nashaa
Aa..

Are aise muskuraati hai
Yun fiza bulaati hai
Jaise ho ye meri dilruba

Panchhi sur mein gaaten hain
Bhanwre gungunaten hain
Ghunghroo bajaati hai hawaa
Aise muskuraati hai
Yun fiza bulaati hai
Jaise ho ye meri dilruba

Naiyaa bin khivaiyaa jaane kaise
Saahilon pe aati hai
Dhara iss nadi ki
Har kisi ko ik din toh milati hai

Ho.. o.. naiyaa bin khivaiyaa jaane kaise
Saahilon pe aati hai
Dhara iss nadi ki
Har kisi ko ik din toh milati hai

Sachchi ye kahaani hai
Paani zindagani hai
Saare jag ko hai ye pataa
Aa..

Ho, aise muskuraati hai
Yun fiza bulaati hai
Jaise ho ye meri dilruba

Panchhi sur mein gaaten hain
Bhanwre gungunaten hain
Ghunghroo bajaati hai hawaa
Aise muskuraati hai
Yun fiza bulaati hai
(Jaise ho ye meri dilruba)-3

More Sirf Tum Song


Love To Share