Ek Tu Hi Tu Hi Lyrics in Hindi – Mausam | Hans Raj Hans

Love To Share

इक तू ही तू ही लिरिक्स Ik Tu Hi Tu Hi Lyrics from Mausam movie. Sung by Hans Raj Hans. Pritam Chakraborty composed the music and Irshad Kamil has penned the lyrics. Song is picturised on Shahid Kapoor and Sonam Kapoor.

Song Credits:
Song Title/गाना: जब जब चाहा तूने रज्ज के रुलाया jab jab chaha tune rajj ke rulaya
Movie/चित्रपट: मौसम Mausam (Year-2011)
Singer/गायक: हंस राज हंस Hans Raj Hans
Music Director/संगीतकार: प्रीतम चक्रवर्ती Pritam Chakraborty
Lyrics Writer/गीतकार: इरशाद कामिल Irshad Kamil
Star casts/अभिनीत किरदार: Shahid Kapoor, Sonam Kapoor, Anupam Kher, Supriya Pathak, Aditi Sharma, Manoj Pahwa, Lorna Anderson
Music Label: T-Series

Ek Tu Hi Tu Hi Lyrics in Hindi

तेरा शहर जो पीछे छूट रहा
कुछ अंदर-अंदर टूट रहा
हैरान हैं मेरे दो नैना
ये झरना कहाँ से फूट रहा..

(जब-जब चाहा तूने
रज्ज के रुलाया
जब-जब चाहा तूने
खुल के हँसाया
जब-जब चाहा तूने
खुद में मिलाया
इक तूही तूही तूही तूही तूही)-2
इक तूही तूही तूही तूही तूही

मेंदा तो है.. रब खो गया
मेंदा तो है हाए सब खो गया
तेरियाँ मोहब्बताँ ने लुट्टी-पुट्टी साईयाँ
तेरियाँ मोहब्बता ने सच्चेयाँ सताईयाँ
खाली हाथ मोड़ी ना तू, खाली हाथ आईयाँ

मेंदा तो है.. रब खो गया
मेंदा तो है हाए सब खो गया

(जब-जब चाहा तूने
रज्ज के रुलाया
जब-जब चाहा तूने
खुल के हँसाया
जब-जब चाहा तूने
खुद में मिलाया
इक तूही तूही तूही तूही तूही)-2

इक तूही तूही तूही तूही तूही

काँच पे चलना, आँच में जलना
जितने भी दर्द हैं माये
सह ना सके ये जिंदड़ी
ज़हर को पीके, सूली पे जीके
निकले जो दम कभी
तो इन दर्दों से छूटे जिंदड़ी

यूँ वक्त कटे मेरी जान घटे
अरमान सभी टुकड़ों में बंटे

काँच पे चलना, आँच में जलना
जितने भी दर्द हैं माये
सह ना सके ये जिंदड़ी

तेरियाँ जुदाईयाँ अग्गे दुःख सारे छोटे
तेरियाँ जुदाईयाँ अग्गे सुख सारे खोटे
पल-पल होते मेरे दिल दे टोटे
मेंदा तो है.. रब खो गया

दिल की गागर से, सात सागर से
छलके हैं तो क्यों ये
पाँचों दरिया भी हैराँ हो गए
साज़ तन-मन के, सोने से खनके
साथ मेरे था जब मेरा
अब तो ये वीराँ हो गए

तेरे गम को मिटावाँ, कैसे
तुझको भुलावाँ कैसे
लगियाँ निभावाँ कैसे
बिछड़े को पावाँ कैसे

दिल की गागर से
साथ सागर से
छलके है तोह क्यों येह
पांचो दरिया भी हैरान हो गए

तेरियाँ मोहब्बताँ ने
हक़ भी दिए हैं
तेरियाँ मोहब्बताँ ने
दुःख भी दिए हैं
तेरे बिना लख वारी
मर के जिए हैं
मेंदा तो है.. रब खो गया

(जब-जब चाहा तूने
रज्ज के रुलाया
जब-जब चाहा तूने
खुल के हँसाया
जब-जब चाहा तूने
खुद में मिलाया
इक तूही तूही तूही तूही तूही)-2
इक तूही तूही तूही तूही तूही

Advertisement

Love To Share