बनके तितली दिल उडा Banke Titli Dil Uda Lyrics-Chennai Express

banke titli dil uda lyrics
Love To Share

बनके तितली दिल उड़ा  लिरिक्स Banke Titli Dil Uda Lyrics in Hindi from Chennai Express Movie. Sung by Chinmayi Sripaada and Gopi Sunder. Shantanu Moitra has composed the music. Song is picturised Shahrukh Khan and Deepika Padukone.

Song Title: बन के तितली दिल उड़ा ban ke titli dil uda
Movie: चेन्नई एक्स्प्रेस Chennai Express(2013)
Singers: चिन्मयी श्रीपदा Chinmayi Sripaada, गोपी सुंदर Gopi Sunder
Music Director: Shantanu Moitra
Lyrics Writer: अमिताभ भट्टाचार्य Amitabh Bhattacharya
Star casts: Deepika Padukone, Shahrukh Khan
Music Label: T Series

Ban Ke Titli Dil Uda Lyrics in Hindi

बन के तितली दिल उड़ा उड़ा उड़ा है
कहीं दूर..
बन के तितली दिल उड़ा, उड़ा, उड़ा है
कहीं दूर..
चल के ख़ुशबू से जुड़ा, जुड़ा, जुड़ा है
कहीं दूर..

हादसे ये कैसे, अनसुने से जैसे
चूमे अंधेरों को, कोई नूर…
बन के तितली दिल उड़ा, उड़ा, उड़ा है
कहीं दूर..

सिर्फ कह जाऊं या, आसमान पे लिख दूं
तेरी तारीफों में चश्में बद्दूर…

बन के तितली दिल उड़ा उड़ा उड़ा है
कहीं दूर..
चल के ख़ुशबू से जुड़ा जुड़ा जुड़ा है
कहीं दूर..

Advertisement

भू..री भूरी आँखें तेरी
कनखियों से तेज़ तीर कितने छोड़े
धा..नी धानी बातें तेरी
उड़ते फिरते पंछियों के रुख भी मोड़े

अधूरी थी ज़रा सी
मैं पूरी हो रही हूँ
तेरी सादगी में होके चूर…

बन के तितली दिल उड़ा उड़ा उड़ा है
कहीं दूर..
चल के ख़ुशबू से जुड़ा जुड़ा जुड़ा है
कहीं दूर..

रातें गिन के नींदें बुन के
चीज़ क्या है ख्वाबदारी हम ने जानी
तेरे सुर का साज़ बन के
होती क्या है रागदारी हम ने जानी

जो दिल को भा रही है
वो तेरी शायरी
या कोई शायराना है फितूर…

बन के तितली दिल उड़ा उड़ा उड़ा है
कहीं दूर..
चल के ख़ुशबू से जुड़ा जुड़ा जुड़ा है
कहीं दूर..

हादसे ये कैसे, अनसुने से जैसे
चूमे अंधेरों को, कोई नूर…
बन के तितली दिल उड़ा, उड़ा, उड़ा है
कहीं दूर..

सिर्फ कह जाऊं या, आसमान पे लिख दूं
तेरी तारीफों में चश्में बद्दूर…

Banke Titli Dil Uda Lyrics in English

Advertisement

Ban ke titli dil uda, uda, uda hai
Kahin dur…
Ban ke titli dil uda, uda, uda hai
Kahin dur…
Chal ke khushbu se juda, juda, juda hai
Kahin dur…

Hadse ye kaise ansune se jaise
Chume adheron ko koyi noor…
Ban ke titli dil uda, uda, uda hai
Kahin dur…

Sirf keh jaun yaa aasmaan pe likh dun
Teri tarifon mein chashme Baddur…

Ban ke titli dil uda, uda, uda hai
Kahin dur…
Chal ke khushbu se juda, juda, juda hai
Kahin dur…

Bhuri bhuri aankhein teri
Kankhiyon se tez teer kitne chhode
Dhani dhani baatein teri
Udte-phirte panchhiyon ke rukh bhi mode

Adhuri thi zara si main puri ho rahi hun
Teri sadgi mein hoke chur…
Ban ke titli dil uda, uda, uda hai
Kahin dur…
Chal ke khushbu se juda, juda, juda hai
Kahin dur…

Raatein gin ke neendein bun ke
Cheez kya hai khwabdari hum ne jani
Tere sur ka saaz ban ke
Hoti kya hai raagdari hum ne jani

Jo dil ko bhaa rahi hai
Woh teri shayari
Ya koi shayarana hai fitoor..

Ban ke titli dil uda, uda, uda hai
Kahin dur…
Chal ke khushbu se juda, juda, juda hai
Kahin dur…

Hadse ye kaise ansune se jaise
Chume adheron ko koyi noor…
Ban ke titli dil uda, uda, uda hai
Kahin dur…

Sirf keh jaun yaa aasmaan pe likh dun
Teri tarifon mein chashme Baddur…


Love To Share