Tujhse Naraaz Nahin Zindagi Lyrics Male in Hindi – Masoom

tujhse naraz nahi zindagi
Love To Share

Tujhse Naraz Nahin Zindagi Lyrics from Masoom movie. Male Version sung by Anup Ghoshal and female version sung by Lata mangeshkar. Music was composed by R D Burman. Song was picturised on Naseeruddin Shah and Jugal Hansraj.

Song Credits:
Song Title/गाना: तुझसे नाराज़ नहीं ज़िन्दगी Tujhse Naraaz Nahin Zindagi
Movie: मासूम Masoom(Year-1983)
Singer/गायक: Anup Ghosal
Music Director/संगीतकार: R D Burman
Lyrics Writer/गीतकार: Gulzar
Star casts/अभिनीत किरदार: Naseeruddin Shah, Shabana Azmi, Tanuja, Urmila Matondkar and Jugal Hansraj
Music Label: Shemaroo

तुझसे नाराज नहीं जिंदगी लिरिक्स tujhse naraz nahi zindagi lyrics in hindi

तुझसे नाराज़ नहीं ज़िन्दगी
हैरान हूँ मैं, हो ओ हैरान हूँ मैं
तेरे मासूम सवालों से
परेशान हूँ मैं, हो ओ परेशान हूँ मैं

तुझसे नाराज़ नहीं ज़िन्दगी
हैरान हूँ मैं, हो ओ हैरान हूँ मैं
तेरे मासूम सवालों से
परेशान हूँ मैं, हो ओ परेशान हूँ मैं

जीने के लिए सोचा ही नहीं
दर्द संभालने होंगे
जीने के लिए सोचा ही नहीं
दर्द संभालने होंगे

Advertisement

मुस्कुरायें तो मुस्कुराने के
कर्ज़ उतारने होंगे
हो ओ मुस्कुराऊँ कभी, तो लगता है
जैसे होठों पे कर्ज़ रखा है

हो ओ तुझसे नाराज़ नहीं ज़िंदगी
हैरान हूँ मैं, हो ओ हैरान हूँ मैं

ज़िंदगी तेरे गम ने हमें
रिश्ते नए समझाये
ज़िंदगी तेरे गम ने हमें
रिश्ते नए समझाये

मिले जो हमें धूप में मिले
छाओं के ठंडे साये

तुझसे नाराज़ नहीं ज़िंदगी
हैरान हूँ मैं हो ओ हैरान हूँ मैं

आज अगर भर आई है
बूंदे बरस जाएंगी
आज अगर भर आई है
बूंदे बरस जाएंगी

कल क्या पता इनके लिए
आंखे तरस जाएंगी
हो ओ जाने कब घूम हुआ, कहाँ खोया
एक आँसू छुपाके रखा था

हो ओ तुझसे नाराज़ नहीं ज़िंदगी
हैरान हूँ मैं, हो ओ हैरान हूँ मैं
तेरे मासूम सवालों से
परेशान हूँ मैं, हो ओ परेशान हूँ मैं
हो ओ परेशान हूँ मैं
हो ओ परेशान हूँ मैं

tujhse naaraz nahin zindagi lyrics in english

Advertisement

Tujhse naaraz nahin zindagi
Hairan hun main
Ho..o. hairan hun main
Tere maasum sawaalon se
Paresan hun main
Ho..o. paresan hun main

Tujhse naaraz nahin zindagi
Hairan hun main
Ho..o. hairaan hun main
Tere maasum sawaalon se
Paresan hoon main
Ho..o. paresan hun main

Jeene ke liye socha hi nahin
Dard sambhalane honge
Jeene ke liye socha hi nahin
Dard sambhalane honge

Muskurayein to muskurane ke
Karz utarne honge
Ho muskuraun kabhi to lagta hai
Jaise honthon pe karz rakha hai

Ho..o Tujhse naraz nahin zindagi
Hairan hun main
Ho..o hairan hun main

Zindagi tere gam ne hamein
Rishte naye samajhaye
Zindagi tere gam ne hamein
Rishte naye samajhaaye

Mile jo hamein dhoop mein mile
Chaanv ke thande saaye

Tujhse naaraaz nahin zindagi
Hairan hun main
Ho..o hairan hun main

Aaj agar bhar aayi hain
Boondein baras jayengi
Aaj agar bhar aai hain
Boondein baras jaayengi

Kal kyaa pataa inke liye
Aankhein taras jaayengi

Ho..o.. jaane kab gum hoya
Kahaan khoya
Ek ansuun chhupake rakha tha

Ho..o tujhse naaraaz nahin zindagi
Hairan hun main
Ho..o hairan hun main

Tere masoom sawalon se
Paresan hun main,
Ho..o.. paresan hun main
O paresan hun main
Ho..O..paresan hun main


Love To Share